तहजीब को टटोलती तस्वीरें, व्यक्ति शक्ल से नहीं अक्ल से महान बनते हैं.

तहजीब को टटोलती तस्वीरें, व्यक्ति शक्ल से नहीं अक्ल से महान बनते हैं. 

तहजीब को टटोलती तस्वीरें, व्यक्ति शक्ल से नहीं अक्ल से महान बनते हैं.


पिछले कुछ दिनों से दो फोटो सामाजिक ताने-बाने को तौड़ती आभासी सामाजिक प्लेटफॉर्मों पर दौतड़ी नज़र आ रही है. ये तस्वीरें आपको मन मुखी मानव की तहजीब से आपको रूबरू करवा ही देगी. आपको बता देगी किस तरह टेक्नोलोजी का फायदा हम लोग उठा रहे हैं. 


विवाह की ये तस्वीरें अपने आप में लाजवाब हैं.


दरअ़सल पिछले कुछ दिनों से शॉशल मीडिया पर कुछ लोग दो अलग-अलग व्यक्तियों कि विवाह की तस्वीर आगे से आगे ग्रुप्स में साझा कर रहें हैं. ये लोग इन तस्वीरों में वर की शक्ल-ओ-सूरत को लेकर नए-नए मीम्स गढ़े जा रहे हैं. लगता है शक्ल पर फब्तियां कसने वाले इन लोगों को ईश्वर ने अक्ल बक्शी नहीं. 


वर्तमान युग जहां सौंदर्यीकरण के चकाचौंध में कहीं खोए से हैं. इसके उपरान्त मरु भूमि के लोगों ने अभी अपने संस्कार, संस्कृति को बचाए रखा है. कि शक्ल से नहीं इंसान अक्ल से महान होता है. विवाह की ये तस्वीरें अपने आप में लाजवाब है. 


सूरत से नही लोग हमेशा सीरत से पहचान करवातें हैं.


हम लोंगो की शक्ल व अक्ल गढ़ने का काम ईश्वर करता है. इस धरा पर किसी को भी परिपूर्ण (शक्ल, अक्ल) से नहीं भेजता. कुछ बदसूरत अक्लमंद लोग अपनी सीरत से अपनी  पहचान बनाते हैं तो कुछ मंदबुद्धि खुबसूरत लोग अपनी पहचान धुमिल करते हैं. अत: हमें किसी कि सूरत पर हंसी नहीं उड़ानी चाहिए. हमें ऐसे लोगों को सहजता प्रदान करनी चाहिए जो दिल-ओ-दिमाग से कमजोर हो.


हमेशा सकारात्मक विचारों का प्रवाह करें.


शॉशल मीडिया हम पढ़े-लिखे अनपढ़ों का गढ़ है. अपनी शिक्षा व संस्कारों को तहजीब में दिखाएं. हमेशा सकारात्मक विचार ही शॉशल मीडिया पर रखें.  B + 

इसे भी पढ़े: जागती जोत के “गुरु जांभोजी विशेषांक” का डाॅ. कल्ला ने किया विमोचन

0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget