पूर्व सांसद जसवंतसिंह बिश्नोई की माता स्व. गवरीदेवी के देवलोकगमन के उपरांत उनकी स्मृति में किया पौधारोपण.

 पूर्व सांसद जसवंतसिंह बिश्नोई की माता स्व. गवरीदेवी के देवलोकगमन के उपरांत उनकी स्मृति में किया पौधारोपण.

पूर्व सांसद जसवंतसिंह बिश्नोई की माता स्व. गवरीदेवी के देवलोकगमन के उपरांत उनकी स्मृति में किया पौधारोपण.

पूर्व सांसद जसवंतसिंह बिश्नोई की माता स्व. गवरीदेवी के देवलोकगमन के उपरांत उनकी स्मृति में किया पौधारोपण.



पूर्व सांसद जसवंत सिंह बिश्नोई  की माता श्रीमती स्व. गवरीदेवी  के देवलोकगमन के उपरांत सामाजिक संस्कार कार्यों के बाद उनकी स्मृति में वृक्षारोपण किया गया. इस पुनीत कार्य के द्वारा पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के साथ ही सामाजिक स्तर पर एक नवीन पहल की. इस अवसर पर आफरी(AFARI) निदेशक मानाराम बालोच(IFS), एन  आर  विश्नोई (Dupty Directer, AIIMS), ADJ गणपत जी विश्नोई , आरएएस भागीरथ विश्नोई , प्रदीप कुमार खावा (विकास अधिकारी LIC),  महिपाल बाबल (वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी, आफरी), एवं खावा परिवार के सभी सदस्य गण उपस्थित रहे. यहां पर खेजड़ी, चंदन, पराजिता (हरसिंगार), बेल्पत्र आदि के पौध का पौधारोपण किया गया. जसवंतसिंह बिश्नोई सभी  सामाजिक कुरीतियों का सदा ही विरोध करते रहे है, सामाजिक स्तर पर इस अनुकरणीय पहल के द्वारा इन्होंने अपने नेक इरादों को जाहिर किया.

आप सामाजिक बुराई मृत्यु भोज के हमेशा खिलाफ रहे हैं यही कारण है कि एक नई पहल के द्वारा समाज में सकारात्मक संदेश आपने दिया. 

आपने पुरखों की याद में मौसर, मनुहार आदि आडम्बर करने की बजाए उनकी याद में वृक्षारोपण कर अपनी संस्कृति की जड़ों को सिंचा है. जिसके परिणाम समय के साथ इन्हीं वृक्षों से अपने पुर्वजों सा प्रेम संबंध बने रहेंगे.  

बिश्नोइज्म परिवार पूर्व सांसद जसवंतसिंह बिश्नोई को सैल्युट करते हैं कि उन्होंने इन सभी पौधों की सार- सँभाल का जिम्मा लिया. बड़े होकर यही पौधे एक दिन इन्हें मातृछाया का सुखद अहसास करवाएंगे.


Post a Comment

0 Comments